अनिवार्य

अपने स्मार्ट-फोन के डाटा में सामंजस्य लायें

Download and print this guide here. Share your Data Detox experience, keep in touch, or get inspiration for activities by writing to Safa at datadetox@tacticaltech.org!

क्या आप इस बात से परेशान हैं कि ऑनलाइन होते ही विज्ञापन हर जगह आपका पीछा करते हैं? क्या आप नहीं चाहते कि आपकी ऑनलाइन गतिविधियाँ रिकॉर्ड हो? अपना निजी डाटा सुरक्षित रखना चाहते हैं परन्तु समझ नहीं पा रहें हैं कि शुरू कहाँ से करें? हम आपकी सहायता करेंगे!

स्मार्ट-फोन का त्याग करके गुफा में जाकर रहने की कोई आवश्यकता नहीं है। अपने फोन में ये सहज बदलाव करके आप अपना डाटा सुरक्षित रख सकते हैं।

इसको अपना निजी डाटा डीटॉक्स स्टार्टर किट मान लीजिये; अगर आपके पास समय कम है तो आप यहाँ दिए गए कुछ आसान तरीक़े आज़मा कर सकारात्मक प्रभाव महसूस कर सकते हैं। ये तो कुछ बुनियादी उपाय हैं। अगर आप इनके प्रभाव से प्रेरित होते हैं तो यहाँ कई और लिंक हैं जिनमे अनगिनत उपाय दिए गए हैं जिन्हे अपना कर आप अपना ऑनलाइन जीवन सुखद कर सकते हैं।


१. नाम लेना मना है

क्या आपने अपने वाईफाई या ब्लूटूथ या दोनों का नामकरण किया है? या ये भी हो सकता है कि सिस्टम ने खुद ही एक नाम दे दिया हो।

तो जब किसी का वाई फाई ऑन हो तो दुसरो को ऐसा कुछ दिखाई दे सकता है - गब्बर सिंह का फोन/ वाई फाई

इसीलिए आप अपने फोन या ब्लूटूथ या वाई फाई नेटवर्क का नाम कुछ ऐसा रखे जो आपकी कोई व्यक्तिगत तथ्य दूसरों को ना बताए लेकिन आपको पता चल जाये कि वो आपका है। इस तरीके से वाई फाई व ब्लूटूथ का नाम बदल सकते हैं:

एंड्रॉइड

  • वाई फाई का नाम बदलें- सेटिंगवाई फाई → मेनू logoएडवांस्ड / अधिक विशेषताएँ वाई फाई डायरेक्टडिवाइस का नाम बदलें
  • ब्लूटूथ का नाम बदलें: सेटिंगब्लूटूथ → यदि ब्लूटूथ बन्द है तो उसे औन करें → मेनु logoइस डिवाइस का नाम बदलें → ब्लूटूथ बन्द करें

सुझाव: एंड्रॉइड के कई प्रकार के संस्करण हैं तो हो सकता है कि मनपसंद सेटिंग्स मिलने में थोड़ा वक़्त लगे। इस मौके का फायदा उठाकर आप अपने फोन को बेहतर जान सकते हैं।

आई फोन:

  • फोन का नाम बदलें: सेटिंगजेनेरलअबाउट → नाम बदलें

क्या आप अपने फोन की गोपनीयता बनाए रखने के लिए और सुझाव चाहते हैं? तो अपने स्मार्टफोन का डेटा संभाल के रखने के तरीके जानें।


२. अपने अवस्थिति (लोकेशन) के निशान हटा दें

आपका फोन लगातार आपका लोकेशन डाटा उत्पन्न कर रहा है-जब आप लोकेशन ऍप इस्तेमाल नहीं कर रहे तब भी।

लोकेशन डाटा आपके जीवन एवं आपके पसंद -नापसंद के बारे में बहुत कुछ बताता है। इसीलिए बड़ी बड़ी कम्पनियाँ एवं डाटा ब्रोकर काफी ऊँचे दाम में भी खरीदने के लिए तत्पर रहते हैं।

पहली नज़र में ये जानकारी बेतुकी लग सकती हैं परन्तु ये छोटी छोटी जानकारी जोड़कर आपकी जीवन के कुछ ज़रूरी तथ्य मिलते हैं और पता चलता है कि आप किस तरह से जीवन बिताते हैं

अगर ज़रुरत नहीं है तो लोकेशन डाटा बंद कर दें। इससे आपकी बैटरी भी अधिक समय तक चलेगी। ज़रुरत पड़ने पर आप लोकेशन मैप कभी भी ऑन कर सकते हैं।

लोकेशन सर्विस बंद करने का एक प्रदर्शन

एंड्राइड

  • सेटिंग्ससिक्योरिटी व लोकेशन /लोकेशन → लोकेशन बंद कर दें

आई फोन

  • सेटिंग्सप्राइवेसीलोकेशन सेवाएँ → बंद कर दें

गूगल मैप व गूगल की अन्य सेवाओं से लोकेशन बंद करने के लिए देखें - अपने जीवन को गूगल मुक्त करें।


३. अपने ऍप सुव्यवस्थित तरीके से रखें

कभी कभी ये देख लेना ज़रूरी है कि आपके फोन में कौन से ऍप हैं ताकि आप ऍप क्लेन्सकरके उन ऍप को हटा सकें जिनका इस्तेमाल आप नहीं करते या जो ऍप ज़रुरत से ज़्यादा डाटा संग्रह कर रहे हैं।

ऐसा स्वाभाविक नहीं लगता कि आपके सोशल मीडिया ऍप, गेम के ऍप या मौसम सम्बन्धी ऍप आपके डाटा में कोई खास रुची रखते होंगे, पर ऐसा संभव है कि वे भारी मात्रा में डाटा का संग्रह कर रहें हों

ये सब ऍप हटाकर आप अपनी ऑनलाइन जीवन को काफी हद तक निर्मल कर सकते हैं। साथ ही अतिरिक्त ऍप हटाने से आप अपने फ़ोन की बैटरी व इंटरनेट के सही इस्तेमाल का लाभ उठाकर फ़ोन की आयु बढ़ा सकते हैं और पैसों की भी बचत कर सकते हैं।

अगर आपने किसी ऍप या सेवा के लिए कोई ऑनलाइन खाता खोला था परन्तु अब आप वो सेवा या ऍप का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो अवश्य अपना खाता बंद करें व उस सेवा या ऍप से हटा दें।

आप उस कंपनी को मेल करके अपना डाटा उनके वेबसाइट से हटाने की मांग भी कर सकते हैं। इसके बाद जो ऍप आप इस्तेमाल नहीं करते हैं या जो ऍप ज़रुरत से ज़्यादा डाटा संग्रह कर रहे हैं उन सब ऍप को अपने फोन से डिलीट कर दीजिये।

एंड्रॉइड:

  • सेटिंग्स → ऍप्स → जो ऍप हटाना चाहते हैं उसका चयन करें → अनइंस्टाल

टिपण्णी: जो ऍप एंड्रॉइड द्वारा फ़ोन में अन्तर्निहित हैं या फ़ोन कमापनियों ने फ़ोन में डाल दिए हैं वो ऍप डिलीट नहीं होते।

आई-फोन:

  • किसी भी एक ऍप पर ऊँगली रख कर दबाएँ । कुछ ही क्षणों में सारे ऍप हिलने लगेंगे व सब ऍप के साथ एक क्रॉस का चिन्ह दिखेगा। अब जो ऍप डिलीट करना चाहते हैं उसके साथ वाले क्रॉस के चिन्ह को दबाते ही वो ऍप आपके फ़ोन से हट जायेगा।फ़ोन को स्वाभाविक स्थिति में लाने के लिए होम का बटन दबाएं।

टिपण्णी: जो ऍप फ़ोन में अन्तर्निहित हैं वो डिलीट नहीं होते।

अगर आपने किसी सेवा के लिए पैसे दिए हैं तो ये सुनिश्चित करें कि आपने भविष्य में लगने वाले सब शुल्क ख़ारिज कर दिए हैं (ताकि कोई अप्रत्याशित कोई बिल न आ जाये)। हर सेवा को ख़ारिज करने के उपाय अलग हो सकते हैं - इसीलिए उनके ज़्यादातर पूछे गए प्रश्नों को देखें या उनके कस्टमर केयर को मेल/फोन करें।

नियमित रूप से ऍप क्लेन्सकरने से आपका कितने डाटा इंटरनेट पे उपलब्ध है इसमें काफी फर्क पड़ेगा। परिणामस्वरूप कंपनियाँ आपके डाटा का दुरुपयोग नहीं कर पायेंगी। ऐसे कई ऍप हैं जो वही काम बिना आपका डाटा संग्रह या बेचे करते हैं।

वैकल्पिक ऍप केंद्र- यहाँ आपको ऐसे ऍप के सुझाव मिल सकते हैं

अगर आपको ऍप बदलने की प्रक्रिया कठिन लग रही हो तो एक या दो ऍप से शुरू करें। मिसाल के तौर पर क्या आपका ब्राउज़र फ़ायरफ़ॉक्स या किसी और निजी कंपनी के ब्राउज़र से बदल सकते हैं?

क्या आप अपने ऍप सुव्यवस्थित रखने के अधिक सुझाव चाहते हैं ? तो हमारा "ऍप क्लेन्स" का लेख ज़रूर देखें।


४. अपना ब्राउज़र सशक्त करें

आपका ब्राउज़र इंटरनेट का प्रवेश पथ है; इसीलिए अगर आपको लगता है कि ब्राउज़र के माध्यम से आपके बारे में बहुत सारा डाटा नेट पर उपलब्ध हो रहा है तो आपका संदेह सही है।

आपके ब्राउज़र के पास आपके बारे में काफी जानकारी रहती है - आपका ठिकाना, आप इंटरनेट पर क्या सर्च करते हैं, आप किस प्रकार की वेबसाइट देखते हैं - ऐसी कई छोटी छोटी जानकारियों को जोड़कर जीवन के काफी महत्वपूर्ण तथ्यों का पता चल सकता है।

हमारा सुझाव है कि ब्राउज़र में "ऐड ऑन व एक्सटेंशन " (ये आसानी से इनस्टॉल होने वाले छोटे प्रोग्राम हैं जो आपके ब्राउज़र की गोपनीयता बढ़ाने में मदद करते हैं) लगा लें ।

फायरफॉक्स अथवा क्रोम में:

  • गुप्तचरी विज्ञापन व अदृश्य ट्रैकर से बचने के लिए इनस्टॉल करें Privacy Badger
  • वेबसाइट से आपके ब्राउज़र का संपर्क सांकेतिक रखने के लिए जहाँ जहाँ संभव हो HTTPS Everywhere इनस्टॉल करें । ये एक ब्राउज़र ऐड ऑन है जो बहुत से गुर्त्वापूर्ण वेबसाइट के साथ आपके संचार को सांकेतिक एवं सुरक्षित रखने में सहायता करता है।
  • अनचाहे विज्ञापनों को रोकने के लिए uBlock Origin इनस्टॉल करें।

अपने ब्राउज़र को सशक्त करने के अधिक उपाय जानना चाहते हैं? तो संपूर्ण ब्राउज़र बूस्टर आज़मा के देखिये।


५. जो सीखा वो दूसरों को भी सिखाएँ

आपने क्या जाने अनजाने में विभिन्न पोस्ट व तस्वीरों में अपने परिजनों को टैग करके इंटरनेट पर उपलब्ध उनके संबंधित डाटा में वृद्धि कर दी है?

तो तुरंत उन्हें अनटैग करके इंटरनेट से उनका डाटा और अपने दिल का बोझ दोनों कम कर सकते हैं।

टिप्पणी: फेसबुक और गूगल नेपथ्य से भी चेहरे व पहचान सकते हैं एवं सोशल मीडिया के ज़रिये कड़ियों को जोड़कर हमारे जीवन के महत्वपूर्ण तथ्य जान सकते हैं। इसीलिए बेहतर यही होगा कि ऐसे वेबसाइट पर या ग्रुप चैट पर तस्वीरें या इस तरह की निजी चीज़ें न शेयर की जाएँ। इस प्रकार के व्यक्तिगत तथ्य प्राइवेट चाट या मेल पर ही भेजें जाये। (Signal या Wire जैसे प्राइवेट चाट ऍप आज़मा कर देखें।)

केवल आपकी ही जानकारी संग्रहित नहीं की जा रही। विश्लेषक डाटा में से जानकारी के सूत्रों को जोड कर आपके मित्रों के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं - चाहे वे फ़ेसबुक पर हों या नहीं।

ये ज़रूरी है कि हम अपने दोस्तों, सहयोगियों परिजनों को डाटा फ़ैलाने वाली आदतों तथा उनसे बचने के तरीकों के बारे में अवगत कराएँ। अगर हम सब साथ में कोशिश करेंगे तो खुद का बल्कि दूसरों का डाटा भी बचा पायेंगे।

अगर इन उपायों को अपना कर आपको फायदा हुआ है तो अपने जीवन को गूगल मुक्त करें या अपने सोशल मीडिया प्रोफ़ाइल का नवीनीकरण करें पढ़ सकते हैं। और अगर आप फोन पर कम समय बिताना चाहते हैं तो स्मार्टफोन इस्तेमाल करने के लिए ज़रूरी हैं स्मार्ट आदतें देख सकते हैं।